Home / Biography / प्रियंका गांधी वाड्रा का जीवन परिचय |Priyanka Gandhi biography in hindi

प्रियंका गांधी वाड्रा का जीवन परिचय |Priyanka Gandhi biography in hindi

प्रियंका गांधी वाड्रा का जीवन परिचय (Priyanka Gandhi biography in hindi)

देश की जानी मानी हस्तियों में से एक हैं हमारे देश का राजनैतिक परिवार गांधी परिवार। वर्षों से यह परिवार राजनैतिक रूप से देश की सेवा करता आ रहा हैं । इस परिवार के सभी युवाओं ने राजनीति में अपने कदम रख लिए हैं लेकिन आधिकारिक रूप से सन 2019 के चुनाव के तुरंत पहले इंदिरा गांधी की पौती प्रियंका वाड्रा ने काँग्रेस में महा सचिव के रूप में राजनीति में अपना शंखनाद किया हैं । गांधी परिवार की यह बेटी अब अपने परिवार के समान ही देश की सेवा के लिए राजनीति का हिस्सा बनने जा रही हैं ऐसे में यह जानना दिलचस्प होगा कि इनकी शिक्षा, इनका बचपन और इनके विचार किस तरह के हैं । इन सभी सवालों के लिए यह आर्टिक्ल पूरा पढ़े।

Priyanka Gandhi

  परिचय बिंदु परिचय
1 पूरा नाम (Full Name) प्रियंका गांधी वाड्रा
2 प्रसिद्ध  नाम (Nickname) प्रियंका गांधी
3 जन्मतिथि (Date of Birth) 12 जनवरी, 1972
4 उम्र (Age) 47 वर्ष
5 जन्मस्थान (Birth Place) दिल्ली, भारत
6 धर्म (Religion) हिन्दू
7 जाति (Caste)
8 राशि (Sign) मकर
9 रहवासी (Hometown) दिल्ली
10 काम (Profession) राजनीतिज्ञ
11 राजनीतिक पार्टी (Political Party) भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी
12 राष्ट्रीयता (Nationality) भारतीय
13 वैवाहिक स्थिति (Merital Status) विवाहित
14 शादी की तारीख (Marriage Date) 18 फरवरी सन 1997
15 आय (Net Worth) 450 करोड़ रुपये

प्रियंका का जन्म एवं बचपन (Priyanka Gandhi Birth, Childhood, Education) :

प्रियंका का जन्म स्थान दिल्ली हैं और इनकी जन्म तिथि 12 जनवरी 1972 हैं जिसके अनुसार आज इनकी उम्र 47 वर्ष हैं । यह अपने परिवार की एकलौती बेटी हैं। जब यह महज 19 वर्ष की थी तब इनके पिता पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की मृत्यु हो गई थी । पिता की मृत्यु के बाद प्रियंका और राहुल दोनों को 24 घंटे सेक्युर्टी में रहना पड़ता था जिस कारण वे सभी से दूर होते जा रहे थे ।  इस तरह हम कह सकते हैं इनका बचपन मानसिक तनाव में बिता होगा ।

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के बारे जानने के लिए यहाँ पढ़े 

प्रियंका की शिक्षा :

प्रियंका की शिक्षा भारत (नई दिल्ली) में ही सम्पन्न हुई । इनकी प्रारम्भिक शिक्षा माडर्न स्कूल, कॉन्वेंट ऑफ़ जीसस एण्ड मैरी से पूरी हुई । भारत से ही इन्होने मानो विज्ञान विषय में अपना ग्रेजूएशन पूरा किया ।

प्रियंका की पारिवारिक पृष्ठभूमि :

प्रियंका गांधी अपने परिवार के कारण ही जानी जाती हैं इस तरह इनका परिवार महान दिग्गजों से भरा पड़ा हैं जिन्होने देश की राजनीति में अपना योगदान उस वक़्त से दिया जब देश गुलाम था । मोती लाल नेहरू जो कि प्रियंका की दादी श्रीमति इन्दिरा गांधी के दादा थे, ने अपनी सेवा देश को उस समय दी जब देश गुलाम था । उसके बाद जवाहरलाल नेहरू जो कि प्रियंका के पर नाना थे ने भारतीय राष्ट्रिय काँग्रेस को सशक्त बनाने में अपनी अहम भूमिका निभाई और देश के प्रथम प्रधानमंत्री बने, इनकी पत्नी कमला नेहरू ने भी देश की सेवा की ।

भारतीय राष्ट्रिय काँग्रेस के बारे जानने के लिए यहाँ पढ़े

प्रियंका के दादाजी फिरोज भी राजनीति का हिस्सा थे। प्रियंका को हूबहू इन्दिरा गांधी (उनकी दादी ) की छवि कहा जाता हैं जो कि देश की प्रथम महिला प्रधानमंत्री थी ।  इन्दिरा की मृत्यु के तुरंत बाद ही राजीव गांधी (प्रियंका के पिता) को देश का प्रधानमंत्री घोषित कर दिया गया था । इसके साथ ही प्रियंका के चाचा जी श्री संजीव गांधी भी राजनीति का हिस्सा थे, वे आपातकाल के समय इंदिरा गांधी के मुख्य सलाहकार कहे जाते थे । संजीव गांधी की पत्नी मेनका गांधी शुरुवात से राजनीति में अपने पति के साथ खड़ी रही । लेकिन राजीव गांधी का परिवार कई सालों सक्रिय राजनीति का हिस्सा नहीं था लेकिन फिर श्रीमति सोनिया गांधी (प्रियंका की माताजी) ने काँग्रेस अध्यक्ष का पदभार संभाला ।

वर्तमान समय में प्रियंका के बड़े भाई राहुल गांधी काँग्रेस के अध्यक्ष हैं। उनकी चाची मेनका गांधी एवं उनका बेटा जो कि प्रियंका का चचेरा भाई  वरुण गांधी सक्रिय राजनीति का हिस्सा हैं पर अपनी निजी विचारधारा के कारण वे भारतीय जनता पार्टी के सदस्य हैं । इस तरह प्रियंका गांधी का पूरा परिवार राजनीति का हिस्सा हैं ।

प्रियंका के पति का नाम रॉबर्ट वाड्रा हैं जो कि एक बिज़नसमैन हैं उनका राजनीति से कोई संबंध नहीं हैं परंतु वे अपनी पत्नी को पूरा सहयोग देते हैं । प्रियंका का एक बेटा रेहान वाड्रा एवं बेटी मिराया वाड्रा हैं ।

प्रियंका की रॉबर्ट से मुलाक़ात एवं शादी (Priyanka Gandhi Marriage)  :

यह मुलाक़ात बचपन में ही हो गई थी क्यूंकि रोबर्ट की बहन प्रियंका की दोस्त थी और रोबर्ट राहुल गांधी के अच्छे दोस्त थे । बचपन से ही साथ – साथ बड़े हुये प्रियंका और रोबर्ट को एक दूसरे से प्रेम हो गया और रोबर्ट ने प्रियंका से शादी करने की इच्छा जाहीर की जिसमें अपनी हाँ के साथ प्रियंका ने 18 फरवरी 1997 को रोबर्ट से शादी की । यह शादी 10 जनपथ में ही सम्पन्न हुई जिसे हिन्दू तरीके से हुई थी.

पर नाना पंडित जवाहरलाल नेहरु
पर नानी कमला नेहरू
पर पर नाना मोतीलाल नेहरू
पिता राजीव गांधी
माता सोनिया गांधी
दादाजी फिरोज गांधी
दादीजी इंदिरा गांधी
भाई  राहुल गांधी
चचेरे भाई वरुण गांधी
चाचा संजय गांधी
चाची मेनिका गांधी
पति रोबर्ट वाड्रा
बेटे रेहान वाड्रा
बेटी मिराया वाड्रा

प्रियंका का राजनैतिक इतिहास एवं विचारधार (Priyanka Gandhi Politics) :

वैसे तो प्रियंका को अपने पिता एवं माता के समान ही राजनीति में खासा दिलचस्पी नहीं थी, उनका मानना था राजनीति के बजाय वे नागरिकों की सेवा करना पसंद करती हैं जो कि वे राजनीति का हिस्सा बने बिना भी कर सकती हैं । इसलिए वे अपनी माँ के निर्वाचन क्षेत्र में काफी सक्रिय रही और सभी स्थानो का दौरा भी करती रही ।

प्रियंका को राजनीति में दिलचस्पी कम थी लेकिन वे जनता से रूबरू होती रही हैं इन्होने अपना पहला भाषण 17 वर्ष की आयु में दिया । अमेठी और रायबरेली यह इनके पारिवारिक चुनावी क्षेत्र रहे हैं इसलिए वे वहाँ हमेशा लोगों से मिलती आई हैं और उन्हे काफी पसंद भी किया जाता हैं ।

2004 के चुनाव के समय पर सोनिया गांधी की अगुवाई में काँग्रेस ने चुनाव का परचम लहराया था, तब राहुल गांधी की अपेक्षा प्रियंका गांधी को अधिक सक्रिय भूमिका में देखा गया था । इन्होने कई चुनावी रैलियाँ भी निकाली, इनमें भीड़ का ध्यान केन्द्रित करने की कला माँ और भाई दोनों से ज्यादा आँकी जा सकती हैं ।  माँ और भाई की अहम राजनैतिक सलाहकार के रूप में प्रियंका काफी विख्यात रही लेकिन फिर भी उन्होने कोई पद स्वीकार नहीं किया । 2007 में विधानसभा चुनावों के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं में काफी मतभेद था जिसे समझकर प्रियंका ने परिस्थिती को संभाला और सभी को एकजुट किया ।

बहुत लंबे समय से प्रियंका को राजनीति के आस – पास नहीं देखा गया लेकिन अब वे आधिकारिक रूप से काँग्रेस की महासचिव (पूर्वी उत्तरप्रदेश क्षेत्र) के रूप में राजनीति में प्रवेश कर चुकी हैं ।

राजनैतिक सफर का संक्षिप्त विवरण

2019 काँग्रेस महासचिव पूर्वी उत्तरप्रदेश चुनावी क्षेत्र
2017 अमेठी क्षेत्र की पार्टी प्रचारक
2014 पार्टी प्रचारक
2012 इस समय अमेठी विधानसभा चुनाव में मुख्य प्रचारक थी इन्हे केंद्र माना जा रहा था और प्रचार को अमेठी से सुल्तानपुर तक ले गई थी
2009 पार्टी प्रचारक
2007 उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव दौरान, उन्होंने अमेठी रायबरेली क्षेत्र की दस सीटों पर प्रचार में कांग्रेस पार्टी की मदद की।
2004 इस समय वह सोनिया गांधी एवं राहुल गांधी की अभियान प्रबंधक थीं ।

अब तक प्रियंका को राजनीति में रुचि नहीं थी पर शायद 2014 में काँग्रेस ने जिस तरह की हार का मुख देखा था उसे देखते हुये पार्टी को प्रियंका में उम्मीद दिख रही हैं । कहा भी जा रहा हैं कि इन्हे पार्टी आगामी चुनाव के लिए तुरुप का इक्का कहकर संबोधित कर रही हैं । वैसे तो अब तक प्रियंका ने केवल एक राजनैतिक कार्यकर्ता के रूप में परिवार का साथ दिया हैं, ऐसे में इनके अनुभव कैसे पार्टी के लिए अच्छे साबित होते हैं यह देखने को जनता उत्सुक हैं ।

प्रियंका की कमाई, संपत्ति (Net worth, Income)

प्रियंका गांधी के पास 450 करोड़ रुपये की संपत्ति हैं  उनकी और सालाना कमाई  33 करोड़ रुपये  है। यह राजीव गांधी फाउंडेशन की ट्रस्टी के रूप में भी काम करती हैं। साथ ही इनके पति जाने माने बिज़नस मेन भी हैं ।

प्रियंका गांधी लुक्स (Priyanka Gandhi Looks)

राजनीति के अलावा भी प्रियंका गांधी के बारे में कई बाते काफी मशहूर रही हैं जैसे कि उनका लूक …. क्यूंकि प्रियंका में इन्दिरा गांधी की झलक बहुत ज्यादा हैं और वे अपना राजनैतिक कार्य भी इन्दिरा गांधी के दफ्तर से शुरू करने जा रही हैं।

रंग गौरा
ऊँचाई 5’ 8’’
वजन 64 केजी
आँखों का रंग काला
बालो का रंग काला
खास डिम्पल

प्रियंका की पसंद एवं नापसंद (Likes and Dislikes of Priyanka)

प्रियंका गांधी की पसंद की तुलना भी इंदिरा गांधी से की जाती हैं जैसे उनका रहन – सहन, उनके बाल, उनके कपड़े पहनने का स्टाइल आदि

अब जानते हैं कि प्रियंका को अपनी निजी ज़िंदगी में क्या पसंद हैं और क्या ना पसंद।

शौक फोटोग्राफी, रीडिंग, मैडिटेशन, योगा
खाना टुंडे कबाब एवं सलाद
पुस्तक  ‘डिस्कवरी ऑफ इंडिया’
पसंदीदा राजनीतिज्ञ सोनिया गांधी
हैयर स्टाइल छोटे
पहनावा साड़ी [सार्वजनिक स्थानों पर]

प्रियंका गांधी के जीवन से जुड़ी रौचक बाते (Interesting Facts about Priyanka Gandhi) 

प्रियंका के निजी जीवन से जुड़ी कई ऐसी बाते हैं जो बहुत प्रसिद्ध नहीं हैं। लेकिन यह बाते हमे प्रियंका के व्यक्तित्व से और अधिक ज्यादा परिचय करवाती हैं ।

  1. प्रियंका रोबर्ट से पहली बार जब मिली तब वे केवल 13 वर्ष की थी और रोबर्ट से दोस्ती का प्रस्ताव प्रियंका की तरफ से रखा गया था, लेकिन शादी का प्रस्ताव रोबर्ट की तरफ से पहले आया, जिसके छह वर्षो बाद इन्होने परिवार को इस बारे में बताया। कहते हैं परिवार शादी के लिए राजी नहीं था लेकिन अपनी पर दादी के समान प्रियंका ने भी इस शादी के लिए परिवार को मना लिया । इनकी शादी में बहुत कम पारिवारिक लोग थे जिसमें बच्चन परिवार भी शामिल हुआ था ।
  2. प्रियंका का झुकाव बुद्धिज़्म की तरफ हैं जिसकी बकायदा इन्होने शिक्षा भी ली हैं ।
  3. प्रियंका को अन्य लड़कियों के समान चुस्त – दुरुस्त एवं खूबसूरत दिखना पसंद हैं इसलिए वे रौजाना योगा एवं जिम जैसे शारीरिक वर्कआउट करती हैं। शायद इसलिए ही इनके चेहरे पर हमेशा एक चमक दिखाई देती हैं ।
  4. आम लड़कियों की तरह प्रियंका को खाना पकाना पसंद हैं । साथ ही बच्चो से भी इन्हे बहुत लगाव हैं। अपने पिता के समान इन्हे फोटोग्राफी में काफी दिलचस्पी हैं । साथ ही पढ़ने का शौक भी हैं इन्हे अपने पर नाना द्वारा रचित किताब “डिस्कवरी ऑफ इंडिया” बहुत पसंद हैं ।
  5. इनकी वाक शक्ति काफी अच्छी हैं और हिन्दी पर पकड़ भी मजबूत हैं । इसलिए जनता को अपनी तरफ आकृषित आसानी से कर लेती हैं महज 17 वर्ष की आयु में इन्होने अपना पहला भाषण दिया था ।
  6. इन सबके अलावा प्रियंका में प्रबंधक के सारे गुण हैं इसलिए इन्होने हमेशा अपनी माँ और भाई के प्रचारों में प्रबंधन देखा । इनके राजनैतिक दृष्टिकोण स्पष्ट हैं इसलिए यह सोनिया गांधी की राजनैतिक सलाहकार के रूप में जानी जाती थी ।

प्रियंका गांधी के जीवन से जुड़े विवाद (Controversy)

बड़ी हस्तियों के जीवन से विवाद भी उसी तरह जुड़े रहते हैं जैसे उनके प्रसिद्ध काम। प्रियंका भी कुछ कारणो ने सुर्खियों में बनी रही और मीडिया के कड़वे सवालों का शिकार बनी ।

  1. बोफोर्स घोटाले के मुख्य अपराधी ओतावियो क्वात्रोकी जो कि गांधी परिवार के पारिवारिक मित्र थे के संबंध बोफोर्स कांड के बाद भी प्रियंका से अच्छे थे जिस कारण यह विवाद से जुड़ी रही । लेकिन इन बातों का पार्टी के लोगो ने खंडन किया था ।
  2. प्रियंका के पति रोबर्ट पर आरोप हैं कि उन्होने एक आईएस ऑफिसर का तबादला केवल अपने गुस्से की वजह से करवाया । इसके अलावा उन पर गंभीर आरोप यह हैं कि उन्होने रियल एस्टेट डेवलपर डीएलएफ़ समूह के साथ मिलकर घोटाले में साथ दिया । और साथ ही इन्हे मिलने वाले वीआईपी ट्रीटमेंट को लेकर भी सवाल उठाये गए थे ।
  3. प्रियंका अपने पति के पक्ष को सामने रखने की वजह से भी सुर्खियों में रही, उन्होने कहा उनकी संपत्ति से उनके पति का कोई लेना देना नहीं था ।
  4. राजनीति में प्रियंका के बढ़ते कदमों के कारण यह भी सुनने में आया था कि राहुल गांधी को यह पसंद नहीं आया था और परिवार में मतभेद बढ़ गया ।
  5. प्रियंका गांधी के लिए यह भी सुनने में आया था कि वे बुद्धिज़्म से प्रभावित थी और उन्होने अपना धर्म परिवर्तित भी कर लिया था ।

प्रियंका गांधी को लेकर काँग्रेस को बहुत आशा हैं और यह देखा भी गया हैं कि उन्हे रायबरेली और अमेठी में बहुत पसंद किया जाता हैं । 2014 में बड़ी हार के बाद 2019 के चुनाव सिर पर हैं ऐसे में प्रियंका पार्टी के कितने काम आती हैं और प्रियंका का राजनैतिक अनुभव उनके भाई के कितने काम आता हैं यह जानने योग्य हैं । प्रियंका गांधी से जुड़ी बातों को जानते रहने के लिए हमारे इस पेज को सब्सक्राइब करे ।

Other Links:

  1. प्रणब मुख़र्जी का जीवन परिचय
  2. सत्याग्रह आंदोलन | आधुनिक भारत का इतिहास

About JIH

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *